Girls B.Ed. ColegeRBKSTeachers Training College Rajasthan
Class Room
B Ed College Rajasthan
B Ed College Rajasthan
B Ed College Rajasthan
सहशैक्षणिक गतिविधियाँ
शैक्षणिक गतिविधियों के अलावा महाविद्यालय में सभी प्रकार की सह-शैक्षणिक गतिविधियों का आयोजन किया जाता है। मुख्य रूप से खैल, शैक्षणिक भ्रमण, समाज सेवा, वनशाला, सांस्कृतिक कार्यक्रम, वाद विवाद प्रतियोगिता, एकलगान, समूह गान, एकल नृत्य, मेंहदी, रंगोली, अभिनय आदि इस सत्र में आयोजित किये गये है।
शैक्षणिक स्टाफ व अशैक्षणिक स्टाफ : महाविद्यालय में प्राचार्य के अलावा विभिन्न विषयों के ७ व्याख्याता विश्वविद्यालय व छब्ज्म् द्वारा निर्धारित योग्यताधारी व्यक्तियों की नियुक्ति की गई है। इनकी नियुक्त विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित चयन समिति गठन कर साक्षात्कार द्वारा की गई है। इन व्याख्याताओं के अलावा समय-समय पर अतिथि व्याख्याताओं केा आमन्त्रित कर व्याख्याताओं की सेमीनार का आयोजन किया जाता है।
सामाजिक सेवा कार्य : वर्ष भर में छात्राओं द्वारा सामाजिक कार्य भी करवाया गया जिनमें प्रमुख हैं -
झाड़ोल में १० दिन तक आयोजित रामायण कथा में महिलाओं के बैठने की व्यवस्था, जल सेवा व प्रसाद वितरण में सहयोग प्रदान किया।
वनशाला में सादड़ी में मोहल्लों व धार्मिक स्थलों में सफाई कार्यक्रम।
सादडी में जिन विद्यालयों में अध्यापकों की कमी है ऐसे विद्यालयों के छात्रों को पढाने का कार्य।
कमलनाथ तथा परशुराम महादेव जैसे धार्मिक स्थलों की सफाई करने की सेवा का कार्य भी इन छात्राओं द्वारा किया गया।
सांस्कृतिक कार्यक्रम : महाविद्यालय की छात्राओं द्वारा माह अगस्त २००७ से अप्रेल २००८ के बीच शैक्षिक कलेण्डर में निर्धारित समस्त जयन्ती, उत्सव जैसे नवरात्रि, दशहरा, गांधी जयन्ती, गणतन्त्र दिवस आदि विधिवत् आयोजन किये गये। माह फरवरी २००८ में महाविद्यालय में ३ दिवसीय वार्षिक उत्सव भौमट का आयोजन किया गया। आयोजन के दौरान साहित्यिक एवं सांस्कृतिक स्पर्धाएं करवाई गई।
गुणवत्ता : प्रबन्ध मण्डल द्वारा समय-समय पर महाविद्यालय के स्टाफ एवं छात्राओं के बीच सभा स्थल पर बैठक आयोजित कर शैक्षिक एवं सहशैक्षणिक गतिविधि कर चर्चा कर गुणवत्ता के दृष्टिकोण से समय-समय पर मूल्यांकन किया गया। प्रयोगिक एवं रचनात्मक गतिविधियों में गुणवत्ता संतोषप्रद पाई गई।
अनुशासन : महाविद्यालय के संचालन में पूर्ण अनुशासन बर्ता गया। कुशल अनुशासन हेतु महाविद्यालय स्तर पर कुछ नियम बनाकर अनुशासन को प्रभावी रखा गया है। छात्राओं का नियमित समय पर महाविद्यालय की समस्त गतिविधियों में सक्रियता आपसी तालमेल आदि सन्तोषप्रद रहा। महाविद्यालय में छात्राओं का एक छात्र संघ (समिति) चुना गया हे, जो समय-समय पर छात्राओं की कोई समस्या होती है तो उसका निराकरण का कार्य करते है।

Infrastructure and Facilities